Wednesday, 28 June 2017

सादगी की मिसाल हो तुम तो

सादगी की मिसाल हो तुम तो
ख़ुशबुओं के ख़याल हो तुम तो
दिल के दागों को कर दिया रोशन

एक टीका गुलाल हो तुम तो
पूरे कमरे में छा गए, क्या ख़ूब
इत्र भीगा रूमाल हो तुम तो
जिसकी दुनिया बड़ी अकेली है
उन मुरीदों का हाल हो तुम तो
सारे हाज़िर जवाब गुमसुम हैं
ऐसे हाज़िर सवाल हो तुम तो
- शेरजंग गर्ग

No comments:

Post a Comment